Skip to main content | Help | Screen Reader

Current Size: 100%

नव-नियुक्त कृषि विकास अफ सरों का प्रशिक्षण सफ लतापूर्वक मुकम्मल

नव-नियुक्त कृषि विकास अफ सरों का प्रशिक्षण सफ लतापूर्वक मुकम्मल

चंडीगढ़, 30 जुलाई:

पंजाब कृषि प्रबंधन और एक्स्टेंशन ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (पी.ए.एम.ई.टी.आई.) की तरफ से 26 से 30 जुलाई तक पंजाब के कृषि और किसान कल्याण विभाग में नये भर्ती हुए कृषि विकास अफ सरों (ए.डी.ओज़) के लिए प्रशिक्षण प्रोग्राम करवाया गया। इस प्रशिक्षण में 56 अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

डायरैक्टर पी.ए.एम.ई.टी.आई. डा. एच.एस. धालीवाल ने बताया कि संस्था को कृषि विभाग में नये भर्ती हुए 111 ए.डी.ओज़ को प्रशिक्षण देने की जि़म्मेदारी सौंपी गई थी। उन्होंने आगे बताया कि संस्था ने 20 से 25 जुलाई, 2021 तक ए.डी.ओज़ के पहले बैच का प्रशिक्षण सफलतापूर्वक मुकम्मल किया। दूसरे बैच को 26 से 30 जुलाई, 2021 तक प्रशिक्षण दिया गया। इस प्रशिक्षण का उद्देश्य नये भर्ती हुए अधिकारियों को उनकी भूमिका और जिम्मेदारियों समेत अपने विभाग के ढांचे और कामकाज संबंधी जागरूक करना था जिससे वह अपनी जि़म्मेदारी को प्रभावशाली ढंग से निभा सकें।

प्रशिक्षण प्रोग्राम के दौरान कमिशनर कृषि डा. बी.एस. सिद्धू ने राज्य में किसान खुदकुशियों के बारे अधिकारियों को अवगत करवाते हुये पीडि़त परिवारों के प्रति हमदर्दी रखते हुये उनकी मदद करने के लिए प्रेरित किया। डायरैक्टर कृषि डा. एस.एस. सिद्धू ने प्रशिक्षार्थियों को संबोधन करते हुये कहा कि यह अधिकारी परिवर्तन लाने में अहम भूमिका अदा करेंगे क्योंकि यह क्षेत्रीय स्तर पर काम करेंगे और किसानों के साथ निरंतर संपर्क में रहेंगे। उन्होंने अधिकारियों को राज्य में कीटनाशकों के प्रयोग, कीटनाशक एक्ट और इसके क्वालिटी कंट्रोल संबंधी बताया।

कृषि विभाग के विभिन्न सेक्शनों के ज्वाइंट डायरेक्टरों ने हिस्सा लेने वालों के साथ बातचीत की और उनको अपने सम्बन्धित सैक्शनों के द्वारा राज्य में चलाई जा रही विभिन्न स्कीमों / प्रोग्रामों संबंधी विस्तार से बताया। प्रशिक्षण प्रोग्राम के दौरान विभिन्न विभागीय जांच लैबाटरियों (बीज, खाद और कीटनाशक क्वालिटी कंट्रोल लैबाटरियों) और पी.ए.यू. लुधियाना में फ़ सली अवशेष प्रबंधन मशीनरी हॉल का दौरा भी किया गया जहाँ प्रशिक्षार्थियों को सम्बन्धित लैबाटरियों की कार्य प्रणाली के बारे बताया गया। प्रशिक्षण प्रोग्राम प्रशिक्षार्थियों के फ ीडबैक के साथ समाप्त हुआ। अधिकारियों ने कहा कि इस प्रशिक्षण में शामिल होना उनके लिए एक विलक्षण तजुर्बा था और यह आगे उनके कॅरियर में मददगार साबित होगा।

----------------

back-to-top