Skip to main content | Help | Screen Reader

Current Size: 100%

मुख्यमंत्री पंजाब और दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पंजाब में स्वास्थ्य क्रांति के नये दौर की शुरुआत की

मुख्यमंत्री पंजाब और दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पंजाब में स्वास्थ्य क्रांति के नये दौर की शुरुआत की

• पटियाला में सरकारी क्षेत्र का अपनी किस्म का पहला माता कौशल्या अस्पताल लोगों को किया समर्पित

• 550 करोड़ रुपए की लागत वाले स्वस्थ मिशन पंजाब की शुरुआत

• दिल्ली के मुख्यमंत्री ने लोगों की भलाई के लिए की पहलकदमियों के लिए पंजाब सरकार की सराहना की

• कहा; यह प्रयास मानक स्वास्थ्य सेवाएं यकीनी बना कर आम आदमी को सुविधा देगा

पटियाला, 2 अक्तूबर

राज्य में स्वास्थ्य क्रांति के नये दौर की शुरुआत करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने सोमवार को पटियाला में सरकारी क्षेत्र का अपनी किस्म का पहला माता कौशल्या अस्पताल लोगों को समर्पित किया।

अत्याधुनिक सहूलतों के साथ लैस यह अस्पताल ऐतिहासिक शहर पटियाला और इसके आसपास की लगभग 20 लाख लोगों की आबादी को स्वास्थ्य सहूलतें देगा। इस अस्पताल में 300 बैड हैं और अब इस प्रतिष्ठित स्वास्थ्य संस्था में 66 बैडों का विस्तार किया जा रहा है। अस्पताल को 13.80 करोड़ रुपए की लागत के साथ अपग्रेड किया गया है और आई सी यू, एन आई सी यू और अन्य     सहूलतों के साथ लैस किया गया है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब ने स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में एक नयी क्रांति की शुरुआत की है। उन्होंने ऐलान किया कि लोगों की कीमती जानें बचाने के लिए एक साल के अंदर राज्य भर के सभी अस्पतालों में एमरजेंसी सेवाएं चालू कर दीं जाएंगी। भगवंत सिंह मान ने यह भी कहा कि राज्य सरकार दूरदराज और ग्रामीण क्षेत्रों के गंभीर मरीजों के लिए अति उन्नत स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए इलेक्ट्रानिक इंटैंसिव केयर यूनिट ( ई आई सी यू) व्यवस्था शुरू करने जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आम आदमी क्लीनिक राज्य में स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली को सुधारने के लिए मील के पत्थर के तौर पर काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इन क्लीनिकों में अब तक 59 लाख से अधिक मरीज़ लाभ उठा चुके हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि आम आदमी क्लीनिक और सी. एम दी योगशाला के संकल्प को लोगों के बड़े हित में पूरे भारत में लागू किया जाना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों की भलाई के लिए 550 करोड़ रुपए का स्वस्थ मिशन पंजाब शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि पंजाब को शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाया जायेगा। भगवंत सिंह मान ने कहा कि स्वस्थ मिशन पंजाब के अंतर्गत राज्य भर के सभी सरकारी अस्पतालों को नया रूप मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने बताया कि स्वस्थ पंजाब एप भी लांच की गई है जिससे मोबाइल पर क्लिक करने पर लोग पास के आम आदमी क्लीनिकों का पता लगा सकेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का लक्ष्य है कि आम आदमी क्लीनिकों की तरह लोगों को मुफ़्त दवाएँ मुहैया करवाने के लिए सभी सरकारी अस्पतालों में आयुष फार्मेसी शुरू की जाये। भगवंत सिंह मान ने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब पंजाब लोगों को मानक डॉक्टरी इलाज मुहैया करवाने के लिए एक मॉडल राज्य के तौर पर उभरेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य भर में स्थापित किये गए आम आदमी क्लीनिकों में लोगों को दवाएँ मुफ़्त दीं जा रही हैं। उन्होंने यह भी ऐलान किया कि पंजाब देश का पहला राज्य होगा जो सरकारी अस्पतालों में ’मरीज़ सुविधा केंद्र’ शुरू करने जा रहा है। भगवंत सिंह मान ने बताया कि अस्पताल में एन. आई. सी. यू वार्ड को अपग्रेड करके आधुनिक सहूलतों के साथ लैस किया गया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार की सराहना करते हुये कहा कि राज्य में स्वास्थ्य क्रांति का दौर शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि इसका मकसद राज्य के लोगों को मानक स्वास्थ्य सेवाएं मुफ़्त मुहैया करवाना है। अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि पहले अमीर वर्ग की ही प्राईवेट अस्पतालों में मानक स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुँच थी परन्तु अब आम आदमी को वह सभी सहूलतें यहाँ सरकारी स्वास्थ्य संस्थान में मिलेंगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि आम आदमी क्लीनिकों और स्कूल आफ एमिनेंस की तरह इन अस्पतालों की संख्या भी राज्य भर में बढ़ाई जायेगी। उन्होंने अफ़सोस प्रकट किया कि पहले राज्य के सरकारी अस्पताल ख़स्ता हालत में थे परन्तु अब आधुनिक तकनीक के साथ लैस हैं। अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि इन सहूलतों का मतदान के साथ कोई लेना- देना नहीं है, बल्कि इसका एकमात्र मकसद लोक भलाई को यकीनी बनाना है।

इस दौरान मुख्यमंत्री और दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अस्पताल के अलग- अलग वार्डों का दौरा करके लोगों के साथ बातचीत भी की। बातचीत के दौरान मरीजों और उनके पारिवारिक सदस्यों ने सरकारी अस्पतालों में दीं जा रही सहूलतों पर पूरा संतोष जताया। उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पतालों में दीं जा रही सहूलतें प्राईवेट अस्पतालों की अपेक्षा कहीं अधिक हैं।

मरीजों और उनके साथ मौजूद उनके वारिसों ने भी मुख्यमंत्री की तरफ से स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र में क्रांति लाने के लिए बहुत सी पहलकदमियां करने के लिए सराहना की। उन्होंने कहा कि यह अस्पताल आम लोगों को सुविधा देने के लिए बड़ा प्रयास सिद्ध होंगे। उन्होंने राज्य सरकार की तरफ से तंदुरुस्त पंजाब की सृजना करने के लिए किये जा रहे प्रयासों की भी सराहना की।
---------

back-to-top