• English
  • ਪੰਜਾਬੀ

Current Size: 100%

Select Theme

पंजाब ओलंपिक एसोसिएशन द्वारा ब्रह्म महिंद्रा और राणा सोढी सम्मानित

पंजाब ओलंपिक एसोसिएशन द्वारा ब्रह्म महिंद्रा और राणा सोढी सम्मानित
    पंजाब को खेल के क्षेत्र में राष्ट्रीय नक्शे पर आगे लाने के लिए सरकार और एसोसिएशन मिलकर कार्य करेंगी: ब्रह्म महिंद्रा
    खिलाडिय़ों के प्रशिक्षण, नौकरी और न$कद राशि के साथ सम्मान संबंधी व्यापक खेल नीति जल्द लागू होगी: राणा सोढी
एस.ए.एस. नगर (मोहाली), 4 जुलाई
    पंजाब ओलम्पिक एसोसिएशन द्वारा आज पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री श्री ब्रह्म महिंद्रा और खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी को सम्मानित किया गया। यहाँ फेज़ 9 स्थित पंजाब ओलम्पिक भवन में हुए सम्मान समारोह की शुरुआत में बोलते हुए एसोसिएशन के सचिव जनरल राजा के.एस.सिद्धू ने कहा कि यह पंजाब ओलम्पिक एसोसिएशन के लिए गौरव की बात है कि एसोसिएशन के उपाध्यक्ष श्री ब्रह्म महिंद्रा और अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज़ राणा गुरमीत सिंह सोढी को पंजाब के कैबिनेट मंत्री बनाया गया है जोकि खेल परिवार के लिए खुशी का मौका है। उन्होंने कहा कि ऐसे मंत्रियों के होते हुए सरकार में खिलाडिय़ों के हित सुरक्षित रहेंगे और ये मंत्री खेल और खिलाडिय़ों के अधिकारों के लिए पंजाब कैबिनेट में अपनी आवाज़ बुलंद करेंगे।
    इससे पहले बोलते हुए एसोसिएशन के अध्यक्ष और राज्यसभा मैंबर स. सुखदेव सिंह ढींढसा ने कहा कि पंजाब में चाहे किसी भी पार्टी की सरकार आई हो पंजाब ओलम्पिक एसोसिएशन को हर सरकार का सहयोग रहा है और खेल में कभी भी राजनीति नहीं आई। उन्होंने कहा कि आज एसोसिएशन की तरफ से विशेष तौर पर खेल परिवार के मैंबर पंजाब के कैबिनेट मंत्रियों का सम्मान किया गया है।
    स्वास्थ्य मंत्री श्री ब्रह्म महिंद्रा ने एसोसिएशन का धन्यवाद करते हुए कहा कि वह उनका ही अंग हैं और आज अपने परिवार में बैठे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब को खेल के राष्ट्रीय नक्शे में अग्रणी राज्य बनाने के लिए पंजाब सरकार और एसोसिएशन मिलकर प्रयास मारेंगे।
    इस अवसर पर अपने संबोधन में पंजाब के खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने कहा कि जल्द ही राज्य में एक विस्तृत खेल नीति लागू की जायेगी जिसमें अति आधुनिक उपकरणों के साथ खिलाडिय़ों की प्रशिक्षण, न$कद इनाम, नौकरियाँ और खिलाडिय़ों का ए, बी और सी श्रेणियों में वर्गीकरण आदि अहम पक्ष होंगे। अन्य विवरण देते हुए उन्होंने कहा कि ‘महाराजा रणजीत सिंह अवार्ड’ जो काफ़ी समय से नहीं बाँटे गए, जल्द ही दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जहाँ महाराजा रणजीत सिंह अवार्ड की न$कद राशि में विस्तार किया जायेगा वहीं इनको सालाना फीचर बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षकों के लिए भी अवार्ड शुरू किये जाएंगे जिससे राज्य, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढिय़ा प्रदर्शन करने वाले प्रशिक्षकों का भी मनोबल बढ़ाया जा सके।
    पंजाब की खेल ऐसोसीएशनों को फंड मुहैया करवाने के मुद्दे पर खेल मंत्री ने कहा कि यह एक बहुत ही अहम मुद्दा है जिसे ध्यानपूर्वक सभी पक्षों से पढ़े जाने की आवश्यकता है। उन्होंने आगे कहा कि जल्द ही इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर वह सभी खेल एसोसिएशनों के साथ मीटिंग करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि राज्य की जिन खेल एसोसिएशनों ने अभी तक अपने संगठनात्मक चुनाव नहीं करवाए हैं वे जल्द ही इस संबंधी कदम उठाएं क्योंकि उन ऐसोसीएशनों को ही फंड मुहैया करवाए जाएंगे जिनके पास अपना बाकायदा स्थापित संगठनात्मक ढांचा होगा और निरंतर चुनाव करवाए जाएंगे।
    एक अन्य अहम मुद्दे पर बात करते हुए राणा सोढी ने कहा कि राज्य सरकार का यह निरंतर प्रयास है कि खिलाडिय़ों को हर तरह की सुविधा दी जाये चाहे यह उनके प्रशिक्षण से सम्बन्धित हो या उनको पौष्टिक खुराक मुहैया करवाने से। उन्होंने यह भी दोहराया की कि पंजाब सरकार राज्य का नाम राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खेल के क्षेत्र में चमकाने के लिए पूर्ण तौर पर वचनबद्ध है। इसके साथ ही राणा सोढी ने कहा कि खेल में निचले स्तर पर छोटे बच्चों पर ध्यान देते हुए खेल और शिक्षा विभाग मिलकर कार्य करेंगे और स्कूली खेल पर ध्यान केंद्रित करके पनीरी तैयार की जायेगी।
    इस अवसर पर पंजाब ओलम्पिक एसोसिएशन के सीनियर उपाध्यक्ष श्री राजदीप सिंह गिल ने खेल मंत्री के समक्ष माँग रखी कि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त करने वाले खिलाडिय़ों को नौकरी का ठोस प्रबंध किया जाये और खिलाडिय़ों की पोजि़शन के अनुसार ग्रुप ए, बी और सी में नौकरियाँ यकीनी बनाईं जाएँ। उन्होंने कहा कि पुलिस के अलावा अन्य विभागों और बोर्ड/निगम के लिए भी खिलाडिय़ों को भर्ती किया जाये जिस पर खेल मंत्री राणा सोढी ने कहा कि खेल नीति बनाते समय इन बातों को ध्यान में दिया जायेगा।
    मीटिंग के दौरान खेल विभाग के प्रमुख सचिव श्री संजय कुमार का भी विशेष स्वागत किया गया। इस अवसर पर पंजाब ओलम्पिक एसोसिएशन के अधिकारी भी शामिल थे जिनमें श्री पी.एस.कुमेदान, स. सिकंदर सिंह मलूका, श्री तेजा सिंह धालीवाल, श्री एन.एस.कंग, श्री राजन गुप्ता, श्री जयपाल सिंह, श्री टी.पी.एस.सिद्धू, श्री जगदीश मित्तल, श्री राजिन्दर पाल सिंह कलसी और खेल विभाग के सहायक डायरैक्टर श्री करतार सिंह भी उपस्थित थे।
 

back-to-top